Tuesday , December 1 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / सीएमओ का निर्देश अस्पतालों में अब तक हवा-हवाई

सीएमओ का निर्देश अस्पतालों में अब तक हवा-हवाई

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-सोनू पंडित-सिटी रिपोर्टर 

आजमगढ़। सरकारी अस्पतालों में भर्ती मरीजों का ठंड से बुरा हाल हो गया है। पारा गिरने के साथ ही बढ़ी गलन ने मरीजों के साथ ही उनके तीमारदारों को भी परेशान कर दिया है। मरीजों की परेशानी को देखते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एसके तिवारी ने कुछ दिनों पूर्व सभी अस्पतालों के वार्डों में ब्लोवर लगवाने और जगह-जगह तीमादरों के लिए अलाव की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया था। सीएमओ का यह फरमान अस्पतालों में अब तक हवा-हवाई ही साबित हो रहा है। सिर्फ अस्पतालों के मुख्य गेट पर अलाव की व्यवस्था है वो भी अस्पताल प्रशासन के बजाए नगर पालिका ने करवाया है। मंडलीय अस्पताल व जिला महिला चिकित्सालय में भर्ती मरीज व तीमारदार ठंड से परेशान हो गए है। शुक्रवार को तो पारा काफी लुढ़क गया है। जिसके चलते वार्डो में भर्ती मरीजों को सर्वाधिक परेशानी उठानी पड़ रही है। सीएमओ के निर्देश के बाद भी किसी भी सरकारी अस्पताल के वार्डो में ब्लोवर का इंतेजाम नहीं हुआ है। मंडलीय अस्पताल के सभी वार्डों में मरीज ठंड से परेशान दिखे। अस्पताल प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा कंबल ठंड को रोक पाने में पूरी तरह से विफल है। सक्षम मरीज तो अपनी व्यवस्था के तहत घरों से कंबल-रजाई आदि लाकर मरीज को ओढ़ाये है, लेकिन जिनके पास व्यवस्था नहीं है वह अस्पताल के मिले कंबल के भरोसे ही किसी तरह काम चला रहा है। जिला महिला अस्पताल में भी ऐसी ही दुर्गति देखने को मिली। ठंड से परेशान हाल मरीज मुख्य गेट पर जल रहे अलाव के सहारे किसी तरह अपना इलाज करा रहे है। ठंड से मरीजों व तीमारदारों को राहत पहुंचने के बाबत पूछे जाने पर अस्पताल प्रशासन सिर्फ अलाव की व्यवस्था किए जाने की बात कह रहा है, लेकिन वास्तविकता यह है कि अस्पताल प्रशासन ने अब तक मरीजों को ठंड से बचाने के लिए कोई इंतेजाम नहीं किया है। जो अलाव जल भी रहे है तो वह नगर पालिका प्रशासन द्वारा जलवाए गए है। मंडलीय अस्पताल के एसआईसी डॉ. जीएल केशरवानी का कहना है कि हम अपने कर्मचारियों को ही हीटर आदि की व्यवस्था नहीं कर पा रहे है, ऐसे में वार्डो में भर्ती मरीजों के लिए ब्लोवर का इंतेजाम कहां से करें। नगर पालिका द्वारा जलवाए जा रहे अलाव को एसआईसी अस्पताल प्रशासन द्वारा जलवाए जाने का दावा कर रहे है।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!