Wednesday , September 30 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / सहमती नहीं बनी तो “लाटरी सिस्टम” से आवंटित हुआ चुनाव चिन्ह
फाइल फोटो

सहमती नहीं बनी तो “लाटरी सिस्टम” से आवंटित हुआ चुनाव चिन्ह

पूर्वाचल डेस्क आजमगढ़ :- अभिषेक कुमार सिंह 
आजमगढ़। चुवाव चिन्ह आवंटन को लेकर दो प्रत्याशियों के बीच सहमती नहीं तो लाटरी सिस्टम से चुनाव चिन्ह आवंटित हुवा  
नगर निकाय चुनाव में गुरुवार को नामांकन वापसी के बाद शुक्रवार को प्रत्याशियों में चुनाव चिह्न का आवंटन किया गया। इस दौरान आजमगढ़ नगर पालिका क्षेत्र में तीन चुनाव निशान ऐसे थे जिस पर दो-दो प्रत्याशियों ने अपना दावा ठोंका था। दो चुनाव चिह्नों पर प्रत्याशियों ने आपसी सहमति से मामले को सुलझा लिया लेकिन एक चुनाव निशान के लिए दो प्रत्याशियों में लाटरी के माध्यम से फैसला हुआ।

नामांकन वापसी के बाद शुक्रवार को सभी नामांकन स्थलों पर प्रत्याशियों में प्रतीक चिह्न के आवंटन का कार्य सकुशल संपन्न हो गया। लेकिन आजमगढ़ नगरपालिका क्षेत्र में तीन चुनाव चिह्नों पर दो प्रत्याशियों ने दावेदारी की थी। जिसका परिणाम हुआ कि जब एक प्रत्याशी प्रतीक चिह्न लेने के लिए आरओ के पास पहुंचा तो उसे दूसरे प्रत्याशी का इंतजार करने के लिए कह दिया गया। जब दूसरा प्रत्याशी आया तो उन्हें पहले आपस में बैठक मामला सुलझाने के लिए कहा गया। कंघा चुनाव चिह्न को लेकर मोहम्मद सलीम और शीला श्रीवास्तव, वृक्ष को लेकर जमुना प्रसाद अग्रवाल और अजय कुमार गौतम, लड़का और लड़की को लेकर कमलेश यादव और कुंवर प्रतीक्षित सिंह ने दावा ठोंका था। जिसमें चार प्रत्याशियों ने आपसी सहमति से चुनाव चिह्न का फैसला कर लिया। लेकिन लड़का और लड़की चुनाव चिह्न को लेकर कमलेश और कुंवर प्रतीक्षित में आपसी सहमति नहीं बन पाई। तब आरओ एडीएम वित्त एवं राजस्व वीके गुप्ता ने लाटरी के माध्यम से फैसला कराने का निर्णय लिया। जिसमें कमलेश यादव को लड़का लड़की चुनाव चिह्न मिला। कुंवर प्रतीक्षित को सितारा चुनाव चिह्न से संतोष करना पड़ा।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!