Saturday , November 28 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / रेलवे क्रासिंग बंद करने पर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, लगाया जाम

रेलवे क्रासिंग बंद करने पर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, लगाया जाम

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-मोहम्मद ताहिर-सरायमीर 
रेलवे अधिकारियों के आश्वासन के बाद जाम समाप्त 
आजमगढ़। सरायमीर रेलवे स्टेशन के पूर्व दिशा में स्थित मानव रहित क्रासिंग नम्बर 50 को बिना किसी सूचना के रेलवे द्वारा बुधवार की दोपहर करीब 12 बजे बंद करने की कार्रवाई की गयी। इस दौरान जीआरपी, आरपीएफ व स्थानीय पुलिस बल के साथ पहुंचे रेलवे अधिकारियों ने ग्रामीणों के विरोध के बावजूद बल प्रयोग करके रास्ते को जीसीबी से खोद कर स्थायी रूप से बन्द कर दिया। इसके विरोध में कई गांवों के ग्रामीणों ने बलिया-लखनऊ राजमार्ग को जाम करते हुए जमकर प्रदर्शन किया।
बता दें कि लगभग आठ महीने पूर्व रेलवे अधिकारियों का एक जत्था मानव रहित क्रासिंग नम्बर 49 को बन्द करने पहुंचा था जिसका दर्जनों ग्रामीणों ने तीव्र विरोध किया था। इसे संज्ञान में लेते हुए तत्कालीन जिलाधिकारी ने रुकवा दिया था। तभी से यह मामला लम्बित पड़ा हुआ था। बुधवार को एकायक ग्रामीणों को सूचना मिली कि मानव रहित क्रासिंग नम्बर 50 को बन्द कर दिया जायेगा। इस सूचना पाते ही अगल-बगल के गांवों के सैकड़ों ग्रामीण मौके पर पहुंचे और अलाव जलाकर धरने पर बैठ गए। कुछ देर बाद पसेंजर ट्रेन से वहां पहुंचे रेलवे अधिकारियों ने माजरा देखकर समझ गए कि ग्रामीण विरोध करेंगे। इसकी जानकारी तत्काल उच्चाधिकारियों को दी गयी। वहां से मिले दिशा निर्देश पर गोदान एक्सप्रेस व गोण्डा एक्सप्रेस के गुजरने तक इन्तेजार किया गया। जैसे ही दोनों ट्रेन पास आउट हुई रेलवे मण्डल इंजीनियर अजय कुमार उपाध्याय के नेतृत्व में आरपीएफ, जीआरपी व स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंच कर बल प्रयोग करते हुए जीसीबी ने काम शुरू कर दिया। रेलवे ट्रैक के दोनों ओर लगभग सात फिट गहरा गड्ढ़ा खोदकर लोहे का एंगल लगाकर सड़क पूर्ण रूप से बन्द कर दिया गया। इसके बाद आक्रोशित ग्रामीण वहां से बलिया-लखनऊ राजमार्ग पर पहुंचे और करीब 12 बजे स़ड़क जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। लगभग एक घंटे बाद एएमआईएम जिलाध्यक्ष कलीम जामई वहां पहुंचे उनके समझाने पर नागरिकों ने पुलिस के इस आश्वासन पर की आप लोगों की समस्या जायज। इस सम्बंध में उच्चाधिकारियों से वार्ता की जायेगी, तब जाकर ग्रामीणों ने जाम समाप्त करने को तैयार हुए। इस संबंध में मण्डल इंजिनियर अजय उपाध्याय ने बताया कि जब क्रासिंग नम्बर 50 को क्रासिंग नम्बर 51 से जोड़ दिया जायेगा तो क्रासिंग नम्बर 49 को भी बन्द कर दिया जायेगा यह हमारा नहीं अपितु भारत सरकार का निर्णय है इसमें हम लोगों से कोई मतलब नहीं होता है। उन्होंने बताया कि शासनादेश में स्पष्ट रूप से उल्लिखित है कि जिस क्रासिंग को बन्द करना है उसको बगल वाली क्रासिंग से जोड़ना आवश्यक है। किन्तु दोनों क्रासिंग को आपस में पूर्ण रूप से जोड़ा नहीं जा सका है। ग्रामीणों का कहना है कि सरकार के इस निर्णय को तुगलकी निर्णय करार देते हुए कहा कि सरकार का काम है जनता के सुख सुविधा का ध्यान रखना न कि उनको और परेशान करना।

 

About Bharat Good News

error: Content is protected !!