Monday , March 1 2021

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / राममंदिर की नींव का प्रारूप तैयार, फरवरी से होगा काम :

राममंदिर की नींव का प्रारूप तैयार, फरवरी से होगा काम :

श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राममंदिर निर्माण के लिए नींव का प्रारूप तैयार हो चुका है। नींव खोदाई का कार्य फरवरी के पहले सप्ताह में शुरू हो जाएगा। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि राममंदिर के नींव के ढांचे पर इंजीनियरों ने मुहर लगा दी है। पूरा मंदिर विश्व में इंजीनियरिंग की अद्भुत संरचना में शामिल होगा। 01 फरवरी से नींव खोदाई का कार्य शुरू होने की पूरी संभावना है। राममंदिर शताब्दियों तक सुरक्षित रहे इसके लिए देश की 10 बड़ी तकनीकी एजेंसियों ने करीब आठ माह तक मंथन किया है।

उन्होंने कहा कि राममंदिर के नींव का प्रारूप तैयार हो चुका है। ऐसे में यदि 01 फरवरी से काम शुरू हो जाता है तो 39 से 40 महीने के भीतर राममंदिर का निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। बताया कि पत्थर का वजन जिस नींव पर टिका रहना है उसकी आयु कैसी है। दूसरी बात इस नींव की ड्राइंग किस ढंग से बनाई जाए ताकि लंबे समय तक नींव पत्थर का वजन सह सके। इस पर इंजीनियर मंथन कर चुके हैं, उसका प्रारूप आ गया है। कार्य अब शीघ्र शुरू होगा। उन्होंने कहा कि नींव मजबूत करने के लिए 50 फीट गहराई तक खोदाई की जाएगी।

इसके बाद पत्थरों का भार सहने लायक नींव बनाई जाएगी। ऐसी ड्राइंग तैयार हो चुकी है जिससे राममंदिर शताब्दियों तक सुरक्षित रहेगा। राममंदिर भारत की इंजीनियरिंग ब्रेन का अद्भुत उदाहरण बनेगा। चंपत राय ने कहा कि हमारा 39 महीने के भीतर राममंदिर का निर्माण पूरा करने का लक्ष्य है। कहा कि राममंदिर में बहुत सारा काम मैनुअल होना है इसलिए यदि चार-पांच महीने देर भी हो जाए तो भी कोई बात नहीं है। राममंदिर में मनुष्य के हाथों की कारीगरी होगी, आरसीसी, प्री फेब्रिकेशन का काम नहीं है, अनुभवी लोगों की मदद ली जा रही है।

 

About Bharat Good News

error: Content is protected !!