Tuesday , September 29 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / अपराध / मंडलायुक्त का फरमान ,सड़क के कारण हुए हादसे तो इन अधिकारीयों के खिलाफ दर्ज होंगे ये  मुक़दमे 

मंडलायुक्त का फरमान ,सड़क के कारण हुए हादसे तो इन अधिकारीयों के खिलाफ दर्ज होंगे ये  मुक़दमे 

धर्मेंद्र श्रीवास्तव
आजमगढ़ के मंडलायुक्त विजय विश्वासपंत ने पहली बार एक ऐसा फरमान जारी किया जिसे लेकर लोक निर्माण  विभाग और एनएचएआई दोनों सकते में है | इस फरमान में यदि स्थानीय स्तर पर अधिकारियों की लापरवाही से काम की रफ़्तार सुस्त है तो इस आदेश के बाद अधिकारीयों के गले में किसी क्षण तलवार लटक सकती है | और यदि शासन या सरकार के स्तर प्र कार्य में ढिलाई है तो ये आदेश बेमानी साबित होगा | बहरहाल  मंडलायुक्त विजय विश्वास पंत के इस आदेश के बाद दोनों विभागों में हड़कंप मचा है | इधर लगातार कई सामाजिक संगठनों ,पत्रकारों, व् कुछ राजनितिक दलों की शिकायत पर  श्री पंत सोमवार को सेमरहा, कोटिला, मुहम्मदपुर और बिंद्राबाजार में सड़कों की हालत का जायजा लिया। इस दौरान दोनों विभागों ने ये कहकर पल्ला झाड़ लिया ये सड़के इन दोनों विभागों के अधीन नहीं है |इस पर मंडलायुक्त ने नाराजगी जताई और यह तय  करने का निर्देश दिया कि सड़क किसकी है।और ये भी आदेश किया की यदि सड़क के कारण कोई हादसा होता है तो संबंधित विभाग के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

मंडलायुक्त नेसबसे पहले  सेमरहा में गोरखपुर-वाराणसी लिंक मार्ग पर बने अंडरपास में भारी जल जमाव पाया एवं अण्डरपास के दूसरी ओर सड़क से बह रहे पानी को देखा। जहॉ नीचे गड्ढा होने के कारण दोपहिया, चार पहिया, साईकिल आदि के माध्यम से आने जाने वाले लोग काफी परेशान दिखे। इसपर पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता ने बताया कि यह एनएचएआई की सड़क है, जबकि परियोजना निदेशक एनएचएआई का कहना था कि यह लोनिवि की सड़क है। यही स्थिति कोटिला बाईपास एवं मुहम्मदपुर में भी बताई गई। इस पर मंडलायुक्त ने कहा जिस विभाग को कार्य कराना है बैठक कर तय कर लें। यदि सड़कों की दयनीय स्थिति के कारण कोई अनहोनी होती है तो निश्चित रूप से संबंधित अधिकारी के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। मुहम्मदपुर एवं बिंद्राबाजार में सड़क की हालत बद से बदतर मिलने पर उन्होंने मौके पर ही दोनों विभागों के अधिकारियों जमकर फटकारा ,कहा कि पीडब्लूडी और एनएचएआई के कार्यों की अब साप्ताहिक समीक्षा होगी । दोनों विभाग अपनी अपनी सड़कों के निर्माण एवं मरम्मत आदि के जो भी कार्य कराएं, प्रति सप्ताह उसकी प्रगति से अवगत कराएं। निर्माण कार्यों की प्रगति के साथ ही सीमेन्ट, सरिया, मोरंग, गिट्टी आदि मैटेरियल की मात्रा एवं उसपर व्यय धनराशि, कान्ट्रैक्टर को भुगतान आदि का भी सम्पूर्ण विवरण अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि जिन सड़कों के लिए बजट उपलब्ध है वहां तत्परता से कार्य कराया जाय। 25 अगस्त को निमार्ण कार्यों की बैठक में अपने अपने विभाग से सम्बन्धित कार्यों के पूर्ण विवरण के साथ उपस्थित हों। उन्होंने बिन्द्राबाजार की सड़क जो एनएचएआई की है, की दयनीय स्थिति के बारे पूछा जिस पर सम्बन्धित परियोजना प्रबन्धक द्वारा मरम्मत कार्य कराये जाने के सम्बन्ध में दिये गये तर्कों पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि यदि बजट की कमी है तो उसकी डिमाण्ड करें। इस दौरान जल निकासी में कतिपय अपराधी पवृत्ति के लोगों द्वारा अवरोध उत्पन्न कराये जाने को संज्ञान में लेते हुए मण्डलायुक्त ने मौके पर उपस्थित एसडीएम मेंहनगर को निर्देशित किया कि आवश्यकतानुसार सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराएं। इस मौके पर एसडीएम सदर गौरव कुमार, एसडीएम निजामाबाद राजीव रत्न सिंह, एसडीएम मेंहनगर प्रियंका प्रियदर्शिनी, अधिशासी अभियांता पीडब्ल्यूडी निर्माण खंड पांच विजय सिंह आदि उपस्थित थे।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!