Monday , September 16 2019

प्रमुख समाचार


Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / पूर्वांचल पी जी कॉलेज स्थापना दिवस पर विद्वानों का सम्मान समारोह एवं कवि सम्मेलन का आयोजन

पूर्वांचल पी जी कॉलेज स्थापना दिवस पर विद्वानों का सम्मान समारोह एवं कवि सम्मेलन का आयोजन

रिर्पोट-ज्ञानेन्द्र चतुर्वेदी

आजमगढ़। रानी की सराय, पूर्वांचल पी जी कॉलेज स्थापना दिवस समारोह पूर्वक साहित्यिक एवं सांस्कृतिक परिवेश में मनाया गया। इस मौके पर विद्वानों का सम्मान समारोह एवं कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। साथ ही एक पुस्तक का विमोचन भी हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मंडलायुक्त श्रीमती कनक त्रिपाठी के प्रतिनिधि के रूप में अपर आयुक्त अनिल मिश्रा उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ अशोक श्रीवास्तव, सदस्य उच्चतर शिक्षा आयोग ने किया। कार्यक्रम का प्रारंभ सरस्वती वंदना के साथ हुआ। उक्त अवसर पर डॉ.मालती मिश्रा, पूर्व विभागाध्यक्ष, बी एड को शाल और प्रतीक चिह्न भेंट कर के सम्मानित किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्रवक्ता डॉ.प्रतिभा सिंह के काव्य संग्रह मन धुंआ धुंआ सा है, का विमोचन किया गया। कवि सम्मेलन में पधारे कवियों नागेश शाण्डिल्य, पंकज प्रखर, डॉ ईश्वर त्रिपाठी, राजनाथ, शाकिब आजमी ने अपनी अपनी रचनाएं सुनाई। कार्यक्रम संयोजक पंकज मिश्र ने अपनी गजल हमें आदमीयत सिखाती किताबें से स्रोताओं को पुस्तकों से लगाव बढ़ाने का सन्देश दिया। उक्त अवसर पर शशांक चतुर्वेदी, अजीत मिश्र, विपिन दुबे, उमेश पण्डेय उपस्थित रहे। अंत में अतिथियों के प्रति आभार ज्ञापन डॉ मातबर मिश्र द्वारा किया गया। प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी पूर्वांचल पी जी कॉलेज स्थापना समारोह जिसे पूर्वांचल दिवस के रूप में मनाया जाता है संम्पन्न हुआ। यह कार्यक्रम दो चरणों चला। प्रथम चरण में कार्यक्रम प्रात: 11 बजे से एक बजे तक चला। कार्यक्रम की अध्यक्षता उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग के पूर्व सदस्य डॉ.अशोक कुमार श्रीवास्तव ने किया। विशिष्ट अतिथि  डॉ.मालती मिश्रा तथा अन्य अतिथियों में नगदू पांडेय, बिरजा शंकर राय, डॉ.राजेन्द्र प्रसाद श्रीवास्तव मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में केक काटकर प्रसिद्ध शिक्षाविद डॉ मातबर मिश्रा का जन्मदिवस मनाया गया। इस उपलक्ष्य में छात्रों की ओर से कुछ सांस्कृतिक कार्यक्रम भी सम्पन्न हुए। इसी क्रम में महाविद्यालय की चतुर्थ वर्ग की कर्मचारी श्रीमती गीता को उनकी कर्तव्यनिष्ठा के लिए अपर आयुक्त के हाथों साड़ी भेंट कराई गई। इस सत्र के कार्यक्रम का संचालन डॉ.प्रतिभा सिंह ने किया। कार्यक्रम के दूसरे चरण में कार्यक्रम की मुख्य अतिथि कनक लता त्रिपाठी जी के प्रतिनिधि  के रूप में अपर आयुक्त अनिल कुमार मिश्रा के करकमलों द्वारा डॉ प्रतिभा सिंह के काव्य संग्रह मन धुआँ धुआँ सा है का लोकार्पण हुआ। डॉ.प्रतिभा ने अपनी पुस्तक से सुनो सिद्धार्थ कविता भी पढ़ी। इसके बाद एक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस गोष्ठी में प्रसिद्ध हास्य व्यंग्य के कवि नागेश शांडिल्य ओज कवि पंकज प्रखर गीतकार राजनाथ यादव, पंकज मिश्र वात्स्यायन श्रीमती अनामिका सिंह पालीवाल श्रीमती वंदना शाहऔर डॉ.प्रतिभा सिंह ने काव्यपाठ किया।काव्यगोष्ठी का संचालन प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ ईश्वर चन्द्र त्रिपाठी ने किया। आभार ज्ञापन महाविद्यालय प्राचार्य डॉ.नीलम राय ने किया। कार्यक्रम का आयोजन महाविद्यालय प्रबंधक पवन मिश्रा एवं संयोजन पंकज मिश्र वात्स्यायन शशांक चतुर्वेदी एवं अजीत मिश्र ने किया। इस अवसर पर डॉ.उमेश पांडेय, डॉ.विपिन दुबे, डॉ घनश्याम दुबे, सुजीत राय, शिवप्रकाश राह, श्रीमती अनिता यादव, श्रीमती सीमा पांडेय समेत पूरा महाविद्यालय परिवार उपस्थित रहा।

About Bharat Good News

Leave a Reply

error: Content is protected !!