Thursday , October 22 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / अकबरपुर / पूर्वांचल एक्सप्रेसवे अगस्त 2020 तक यातायात के लिए प्रारम्भ हो जायेगा-डा0अनूप चंद पांडेय(मुख्य सचिव)

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे अगस्त 2020 तक यातायात के लिए प्रारम्भ हो जायेगा-डा0अनूप चंद पांडेय(मुख्य सचिव)

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में उदासीनता दिखाने के आरोप में आजमगढ़ के डीएफओ मुख्यालय से संबद्ध

रिपोर्ट-सोनू पंडित

आजमगढ़: पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की प्रगति की समीक्षा करने आए प्रदेश के मुख्य सचिव डा. अनूप चंद पांडेय ने रविवार को निर्माण कार्य में उदासीनता दिखाए जाने पर आज़मगढ़ वन विभाग के डीएफओ सुधीर कुमार को मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया है तथा निर्माण कार्य को समय से पूरा करने के लिए निर्देश दिये गये । डॉक्टर पांडेय रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की महत्वाकांक्षी यूपीडा द्वारा (उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण) निर्माणाधीन पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पैकेज पांच व छह का हवाई निरीक्षण किया। इसके बाद किशुनदासपुर स्थित पीएनसी कार्यालय में पैकेज पांच व छह की प्रगति संबंधी समीक्षा की।
इस अवसर पर यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश अवस्थी, यूपीडी के सलाहकार आर. गोडबोले, मंडलायुक्त जगत राज, डीआइजी मनोज तिवारी, डीएम आजमगढ़ शिवाकांत द्विवेदी, डीएम आंबेडकरनगर, एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह सहित यूपीडा के सभी संबंधित अधिकारी, संबंधित एसडीएम व तहसीलदार थे।
यूपी के अमेठी और सुल्तानपुर के बाद आजमगढ़ जनपद में निर्माणाधीन एक्सप्रेस-वे की समीक्षा में मुख्य सचिव ने परियोजना से जुड़े अधिकारियों से प्रगति की जानकारी ली। बताया गया कि जिले में परियोजना के निर्माण में आने वाले वन विभाग के 2089 पेड़ अभी भी हटाए नहीं गए हैं। इन पेड़ों के बदले दोगुने यानी 4178 पौधरोपण एवं रखरखाव के लिए प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं विभागाध्यक्ष द्वारा गठित टीम की संस्तुति की दरों पर यूपीडा द्वारा 48,71,546 रुपये प्रभागीय वनाधिकारी को 29 अप्रैल को ही उपलब्ध कराया जा चुका है। पेड़ों के न हटाने के कारण आजमगढ़ के उन स्थलों पर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण बाधित है। इस पर मुख्य सचिव ने प्रभागीय निदेशक वानिकी (डीएफओ) सुधीर कुमार को लखनऊ मुख्यालय से संबद्ध किए जाने का निर्देश दिया। अन्य अधिकारियों को निर्माण कार्य में आ रही परेशानी को समय से रहते निस्तारण के निर्देश दिए।
इस अवसर पर मुख्य सचिव ने कहा कि पूर्वाच्चल एक्सप्रेव-वे के सड़क की कुल लम्बाई 340.824 कि0मी0 है। इसके अन्तर्गत 6 लेन की एक्सेस सड़क बनायी जा रही है। जिसमें 7 ब्रीज, 119 माइनर ब्रिज, अन्डरपास 223, कन्वर्टर 533 तथा एयर स्ट्रीप 01 बनाया जाना है। पूर्वाच्चल एक्सप्रेव वे का कार्य प्रारम्भ हो गया है।
उन्होने बताया कि 96 प्रतिशत भूमि के अधिग्रहण का कार्य हो चुका है। मार्ग में आने वाले मकान को गिराया जायेगा तथा उसका मुआवजा दिया जायेगा। ट्रान्सफार्मर, ट्यूबेल जो उसे 15 से 20 दिन के अन्दर हटाने के लिए सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिए। उन्होने कहा कि मिट्टी का कार्य 46 प्रतिशत हो चुका है। जहां-जहां मिट्टी का कार्य हुआ है, वहां-वहां बरसात से पहले गिट्टी डलवा दे।
उन्होने बताया कि पूर्वाच्चल एक्सप्रेस-वे अगले साल अगस्त 2020 तक यातायात के लिए प्रारम्भ हो जायेगा।
उन्होने जिलाधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि इसकी मॉनिटरिंग करते हुए कार्य को पूर्ण कराना सुनश्चित करे।
उन्होने बताया कि पैकेंज-5 में 5 हेक्टेयर जमीन तथा पैकेज-6 में 31 हेक्टेयर जमीन अभी अधिग्रहण करना अवशेष है उसे 10 दिन के अन्दर जल्द से जल्द पूर्ण कराने के लिए सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिए। इसी के साथ ही उन्होने बताया कि पैकेज-6 में 6 मामले हाईकोर्ट में लम्बित है, जिसका पैरवी करके समाप्त कराये। पूर्वाच्चल एक्सप्रेस-वे के अन्तर्गत कार्य करने वाली एजेन्सियों को निर्देश दिए कि मिट्टी कार्य जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!