Tuesday , September 29 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / पल्हनी ब्लाक-किसान पाठशाला मे खेती का गुण सीखे किसान’

पल्हनी ब्लाक-किसान पाठशाला मे खेती का गुण सीखे किसान’

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-शैलेन्द्र शर्मा-सिटी रिपोर्टर

आजमगढ- प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को जागरूक करने के लिए चलायी जा रही महत्वपूर्ण योजना किसान पाठशाला के तहत चैथे दिन गुरूवार को पल्हनी ब्लाक के हाफिजपुर कोठरा ग्राम पचायत में किसानों की पाठशाला लगायी गयी। इस दौरान किसान पाठशाला मे मास्टर ट्रेनर घनश्याम चैबे ने किसानों को औद्यानिक फसलों का महत्व एवं उद्यान विभाग द्वारा प्रदत्त शासकीय सुविधाओं की जानकारी देते हुए कहा कि फसलों की खेती के साथ उन्नत नस्ल के पशुओं, सब्जी व बागवानी की खेती सहित मछली पालन जैसे व्यवसाय को अपनाना किसानों के भविष्य के लिए आर्थिक मजबूती प्रदान करेगा। उन्होने कहा कि पाली हाउस का निर्माण कराने हेतु 500 वर्ग मीटर पर प्रति वर्ग मीटर 1650 तथा 500 वर्गमीटर से अधिक 1000 वर्गमीटर पर 1464 रूपये की लागत व्यय होती है जिसके तहत सरकार द्वारा 50 प्रतिशत का अनुदान दिया जाता है। जो अनुदान बैंक इंिडग के रूप् में देय होता है। साथ ही पाली हाउस में प्लास्टिक मटेरियल के अंतर्गत सब्जी उगाने पर 140 रूप्ये प्रति वर्गमीटर अनुदान दिया जाता है। यही नहीं कार्नेशन जर्वेरा फूल उगाने पर 610 तथा गुलाब का फूल उगाने पर 426 रूप्ये प्रति मीटर की लागत आने में 50 प्रतिशत का अनुदान सरकार देती है। श्री चैबे ने बताया कि गन्ना किसानों को 238 को 118 तथा कोसा 12232 प्रजाति को प्राथमिकता देते हुए खेती करें। जिसका भरपूर लाभ मिलता है। इस संदर्भ में उन्होने विस्तृत जानकारी देते हुए सरकार की कई योजनाआंे से किसानों को रूबरू कराया। श्री चैबे ने किसानों से मिट्टी मे जीवाँश कार्बन की मात्रा को बढाने व जैविक खेती को बढावा देने की सलाह दी। किसान पाठशाला मंे उपस्थिति किसानों कोे वैज्ञानिक विधि से खेती करने का सुझाव दिया। उन्होनें किसानों को बताया कि शुक्रवार को कृषि साहित्य का वितरण किया जायेगा। किसान पाठशाला का आयोजन कर उपस्थित किसानों को खेती की नवीनतम जानकारी उपलब्ध करायी। इसी क्रम में ग्राम सभा के प्रगतिशील किसान रविन्द्र यादव ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए उत्तम एवं टिकाऊ खेती करने का सुझाव उपस्थित किसानों में साझा किया।विकास खण्ड पल्हनी के किसानों ने पाठशाला से ज्ञान ग्रहण करते हुए यह विश्वास दिलाया कि आने वाले दिनों में खेती उन्नतशील और तकनीकी विधि से की जायेगी। इस दौरान वीरेन्द्र यादव, मंतराज यादव, दिनेश, खुरमुली, धर्मेंद्र सहित दर्जनों किसान उपस्थित रहे।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!