Thursday , October 22 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / धोखे से देवर ने वयोवद्धा भाभी की जमीन पर खुद का फर्जी नाम दर्ज कराकर जमीन हड़प लिया

धोखे से देवर ने वयोवद्धा भाभी की जमीन पर खुद का फर्जी नाम दर्ज कराकर जमीन हड़प लिया

रिर्पोट-विवेक पाण्डेय
आजमगढ़। धोखे से देवर ने वयोवद्धा भाभी की जमीन पर खुद का फर्जी नाम दर्ज कराकर जमीन हड़प लिया है। 70 वर्षीया विधवा भगवानी देवी पत्नी स्व शिवपूजन फखरूद्दीनपुर थाना मुबारकपुर तहसील सदर जिला आजमगढ़ का गाटा संख्या 970, 693 व 360 आदि पैतृक जमीन में आधे के हिस्सेदार है। वहीं जालसाज देवर जयशंकर पुत्र स्व कन्हई ने चकबंदी विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा धोखाधड़ी कर जमीन हड़प लिया है, वे साजिशन दस्तावेजों में मृत समान रह गयी। है। पीड़िता ने पत्रक लिखकर मृतक संघ से न्याय दिलाने की गुहार लगायी है। बता दें कि भगवानी देवी न्याय के लिए जिलाधिकारी, मंडलायुक्त मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को प्रार्थना पत्र देने के बाद भी न्याय से दूर है।
शासन-प्रशासन के उपेक्षात्मक रवैया के बाद पीड़िता मृतक संघ से मामले में हस्तक्षेप करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया है। जमीनों, मकानों की रजिस्ट्री उपरांत खारिज दाखिल के बाद नाम दर्ज होता है। मृत के बाद उसके पुत्र, पुत्रियों, पत्नियों के नाम से वरासत दर्ज किया जाता है लेकिन देवर ने उक्त जमीन पर भाभी के परिवार का नाम न दर्ज कराकर जालसाजी कर दिया। इस बावत मृतक संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष, सामाजिक कार्यकर्ता लालबिहारी मृतक ने बताया है कि लगभग 44 वर्षो से तहसीलों, चकबंदी, परिवार रजिस्टरों, के धोखाधड़ी, घुसखोरी भ्रष्टाचार के विरूद्ध निरंत संघर्ष जारी है। फिर भी मानवरूपी दानव शासन-प्रशासन के पदों के कुर्सियों पर बैठकर अधिकारी, कर्मचारी अपने पदों का दुरूपयोग कर गरीबों, अनपढ़ों, महिला-पुरूषों का गला घोंटकर अन्याय कर मानवाधिकारों का हनन कर रहे है। ऐसे गंभीर विषय पर मृतक संघ न्याय दिलाने के लिए कटिबद्ध रहेगा।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!