Monday , January 25 2021

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / अपराध / दोहरे हत्याकांड में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विक्रम सिंह पर दोष सिद्ध, 27 नवम्बर को होगी सजा की सुनवाई

दोहरे हत्याकांड में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विक्रम सिंह पर दोष सिद्ध, 27 नवम्बर को होगी सजा की सुनवाई

 

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट- शैलेन्द्र शर्मा-सिटी रिर्पोटर

आजमगढ़। 12 दिसम्बर 2010 को त्रिस्तरीय चुनाव के दौरान अतरौलिया में ब्लाक प्रमुख के चुनाव में हुए दोहरे हत्याकांड की सुनवाई पूरी हो गयी है। लगभग 7 वर्ष पूर्व हुए इस दोहरे हत्याकांड में जिला जज सैयद आफताब हुसैन रिजवी ने पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष समेत तीन आरोपियों को दोषी करार दिया है। अदालत ने सजा के बिंदु पर सुनवाई के लिए 27 नवंबर की तिथि नियत की है।

बता दें कि अतरौलिया ब्लाक प्रमुख पद के लिए 22 दिसंबर 2010 को चुना हो रहा था। इस चुनाव में समाजवादी पार्टी की तरफ से चंद्रशेखर यादव तथा बहुजन समाज पार्टी से लालजी सिंह मैदान में थे। दोपहर लगभग 12 बजे मेंबर श्याम बाहर यादव मत देकर ब्लॉक से बाहर निकला। तभी लालजी समर्थकों से उसका विवाद हो गया। तभी आरोपी शैलेश सिंह और पिंकू सिंह तथा अजय कुमार सिंह पत्रकार लालजी सिंह निवासी गोविंदपुर थाना अतरौलिया तथा विक्रम सिंह पुत्र रामदास सिंह निवासी भगतपुर थाना अतरौलिया में समाजवादी पार्टी के टेंट तक दौड़ा कर गोलियां चलाई। इस गोलीबारी में महेंद्र यादव निवासी जमीन नन्दना तथा राम अवध यादव निवासी बसावन पट्टी की मौत हो गई और श्यामबिहारी समेत चार लोग घायल हो गए। मुकदमें में सुनवाई पूरी करने के बाद अदालत ने शुक्रवार को विक्रम बहादुर सिंह, शैलेश सिंह तथा अजय कुमार सिंह को हत्या तथा हत्या के प्रयास का दोषी पाया। मुकदमे में मृतक महेंद्र के भाई योगेंद्र ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!