Tuesday , August 20 2019

प्रमुख समाचार


Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / जानिए कहा हो रहा है देश के पहले कचरे से सीएनजी (कंप्रेस्ड नैचुरल गैस) उत्पादन की तैयारी

जानिए कहा हो रहा है देश के पहले कचरे से सीएनजी (कंप्रेस्ड नैचुरल गैस) उत्पादन की तैयारी

वाराणसी । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में देश के पहले कचरे से सीएनजी (कंप्रेस्ड नैचुरल गैस) उत्पादन की तैयारी है। इस नई पहल को अंजाम तक पहुंचाने के लिए नगर निगम ने मोर्चा संभाला है। प्लांट के लिए 40 एकड़ क्षेत्रफल की सरकारी व गैर सरकारी जमीन की तलाश चल रही है जिसमें 22 करोड़ रुपये खर्च का अनुमान है।

बायो सीएनजी प्लांट लगने से करीब 25 लोगों को रोजगार भी मिलेगा। प्रस्ताव के मुताबिक चरणबद्ध तरीके से प्लांट की क्षमता में इजाफा होगा। पहले प्रतिदिन 25 टन गीले कचरे का प्रसंस्करण कर 1000 किलोग्राम बायो सीएनजी उत्पादित होगा। बाद में प्लांट की क्षमता बढ़ाते हुए प्रतिदिन 120 टन कचरा का उपयोग कर पांच से छह टन बायो सीएनजी का उत्पादन किया जाएगा।

इस प्रक्रिया में प्रसंस्करित कचरे के अवशेष से जैविक खाद भी बनेगा। नगर आयुक्त आशुतोष कुमार द्विवेदी के अनुसार प्रदेश सरकार ने राज्य जैव ऊर्जा उद्यम प्रोत्साहन कार्यक्रम के तहत पांच बायो सीएनजी प्लांट की स्थापना से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। चीनी मिल्स के मड, गोबर व सब्जी मंडी के फल व सब्जी के कचरे से बायो सीएनजी का उत्पादन होना है। इस बाबत केंद्र सरकार की ऑयल मार्केटिंग कंपनी ने लेटर ऑफ इंटेंट (एलओआइ) जारी किया है। काशी के अलावा मेरठ, मुजफ्फरनगर, हापुड़ में भी बायो सीएनजी प्लांट लगेंगे।

बोले नगर आयुक्‍त : बायो सीएनजी प्लांट स्थापित करने की पहल हुई है। आवश्यक जमीन की तलाश हो रही है। वहीं प्लांट निर्माण से पहले नगर निगम की तकनीकी विशेषज्ञों की टीम प्लांट स्थापना की बारीकियों को समझने के लिए दिल्ली भेजी गई है। -आशुतोष कुमार द्विवेदी, नगर आयुक्त, नगर निगम वाराणसी।

About Bharat Good News

Leave a Reply

error: Content is protected !!