Wednesday , September 30 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / जागो युवा सेवा संस्थान के पहल का असर-माँ को मिला बेटे का सहारा

जागो युवा सेवा संस्थान के पहल का असर-माँ को मिला बेटे का सहारा

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-शैलेन्द्र शर्मा-सिटी रिपोर्टर 
आजमगढ़। जागो युवा सेवा संस्थान के विनीत सिह रीशू और पवन सिह के अथक प्रयास के बाद एक लाचार और बेबस मां पर आखिर क्रूर बेटे को तरस आ गया और काफी मान-मनौव्वल के बाद उसने जन्म देने वाली मां को अपने छत में आश्रय देने के लिए राजी हुआ।
बताते चले कि शुक्रवार को जागो युवा सेवा संस्थान ने मानवीयता को तार-तार होने से बचा लिया था। तीन माह पहले इलाज के लिए पवन मद्धेशिया पुत्र छेदी मद्धेशिया निवासी महाराजगंज, आजमगढ़ ने अपने विधवा मां सुमन मद्धेशिया पत्नी छेदी मद्धेशिया के पैरों का उपचार कराने के लिए उन्हें जिला चिकित्सालय में भर्ती करा दिया। मां से अभी आता हूं कहकर लापता हो गया। जिला चिकित्सालय की व्यवस्था को देखने के लिए युवा सेवा संस्थान संयोजक विनीत सिंह रीशू व पवन सिंह शुक्रवार को मरीजों से मिल रहे थे कि उनकी मुलाकात रैन बसेरे में दुखारी सुमन से हो गयी। वृद्धा के कलेजे का दर्द सुनकर जेवाईएसएस की पूरी टीम ने तत्काल महिला संगठन महिला मंडल जनसेवा समिति को सूचित किया। इस बीच महिला के पैरों में तीन माह से लगे प्लास्टर को जेवाईएसएस की टीम ने अपने हाथों से काटा। जानकारी मिलने पर तत्काल महिला मंडल की अध्यक्ष पूनम सिंह मौके पर पहुंची और उन्हें शाल व स्वेटर प्रदान कर मानवीयता को संजोने का काम किया। इसके बाद महिला से पूरी समस पता किया गया। जेवाईएसएस के विनीत सिंह रीशू व पवन सिंह के साथ महिला मंडल ने समय की मारी बेबस महिला को बृद्धा आश्रम में जगह उपलब्ध कराया गया। पूरे प्रकरण में अस्पताल प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आयी है। इस महिला के पैरों में महीनों से प्लास्टर लगा कर छोड़ दिया गया था। स्वास्थ्य विभाग की अमानवीयता के कारण यह महिला जमीन पर रेंगती हुई अपने कार्यो का किसी तरह कर रही थी। वृद्धा आश्रम में आश्रय दिलाने के बाद जेवाईएसएस ने पूरे कृत्य को सोशल मीडिया पर प्रसारित कर दिया। जेवाईएसएस के रिशू ने कहा कि बेबस मां का आंसू पांछने के लिए समाज ने इनके पुत्र को इतना फोन किया लेकिन वह नहीं माना इसीलिए हमारी टीम सुबह ही ठंड में उसके महाराजगंज घर पहुंची गयी और रिश्तों का वास्ता देकर काफी जद्दोजहद के बाद उसके पुत्र को मनाया गया। इस दौरान भारी भीड़ जुट गयी। जेवाईएसएस पवन सिंह ने कहा कि हमारे समझाने के बाद शनिवार को उनका पुत्र पवन मद्धेशिया वृद्धा आश्रम पर पहुंचा और हमने भरे समाज के मौजूदगी में वृद्धा मां को उनके पुत्र को सौंपा है। जेवाईएसएस के इस नेक कार्य से सभी ने पूरी टीम को बधाईयां दी है।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!