Tuesday , September 29 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / गोंड व खरवार समाज की सरकार कर रही उपेक्षा: सुआल

गोंड व खरवार समाज की सरकार कर रही उपेक्षा: सुआल

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-ज्ञानेंद्र चतुर्वेदी-सिटी रिपोर्टर 

आजमगढ़। अखिल भारतवर्षीय गोंड महासभा व प्रादेशिक खरवार महासभा की संयुक्त बैठक शुक्रवार को जिला मुख्यालय स्थित मेहता पार्क में हीरालाल गोंड की अध्यक्षता में हुई। इसमें शासन-प्रशासन द्वारा जाति प्रमाण पत्र निर्गत न किये जाने पर रोष व्यक्त करते हुए आगे की रणनीति बनायी गयी। संचालन प्रकाश गोंड ने किया।
सुआल प्रसाद गोंड ने कहा कि गोंड एवं खरवार जाति सदियों से अत्यंत निर्बल, शोषित रही है। इन जातियों की सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है। इसका कारण है कि समाज के लोगों की शासन व प्रशासन द्वारा उपेक्षा की जा रही है। अनुसूचित जनजाति का प्रमाण पत्र निर्गत करने में हमेशा टाल-मटोल कर रहे हैं। जिसके कारण समाज के लोगों में रोष व्याप्त है। प्रादेशिक खरवार महासभा के महामंत्री त्रिभुवन खरवार ने कहा कि जाति प्रमाण पत्र निर्गत करने के लिए चार माह पूर्व आवेदन किया गया था लेकिन तहसीलदार सदर द्वारा इन आवेदन पत्रों पर कोई विचार नहीं किया गया। उन्होंने बताया कि प्रकरण की सूचना प्रदेश के मुख्यमंत्री को दे दी गयी है। जिलाध्यक्ष कन्हैया गोंड ने कहा कि इन दलित, गोंड, खरवार जातियों के सामाजिक आर्थिक व शैक्षिक उत्थान के लिए अनुसूचित जाति एवं जनजाति का प्रमाण पत्र निर्गत करना अतिआवश्यक है। प्रदेश सरकार के 13 जिलों में जिसमे आजमगढ़ भी शामिल हैं लेकिन जिला प्रशासन व तहसील प्रशासन के उदासीन रवैये के कारण इस समाज के लोगों को सरकारी सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। दीपू खरवार ने कहा कि सबका साथ सबका विकास की बात झूठी है। सरकार समाज के साथ अन्याय कर रही है। इस अवसर पर रज्जन गोंड, रामधनी, बराऊ गोंड, प्यारे, शैला देवी, गिरिजा प्रसाद, सुशील, दानीराम, अमरदीप, सूर्यमुखी सहित आदि मौजूद रहे।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!