Monday , March 1 2021

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / राज्य / दिल्ली / किसान आंदोलन: ट्रैक्टर परेड की मिली अनुमति, रूट पर 4.30 बजे दिल्ली पुलिस की प्रेस कॉन्फ्रेंस

किसान आंदोलन: ट्रैक्टर परेड की मिली अनुमति, रूट पर 4.30 बजे दिल्ली पुलिस की प्रेस कॉन्फ्रेंस

गाजीपुर किसान आंदोलन समिति और प्रशासन के बीच बैठक शुरू

यूपी गेट पर चल रहे किसान आंदोलन में सुरक्षा के संबंध में गाजीपुर किसान आंदोलन समिति और प्रशासन के बीच बैठक शुरू हो चुकी है। बैठक में एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह, एसपी सिटी सेकंड ज्ञानेंद्र सिंह और अन्य अधिकारी मौजूद हैं। वहीं सुरक्षा जांच के लिए डॉग व बॉम्ब स्क्वॉयड दस्ता भी पहुंच गया है।

शाम 4:30 बजे प्रेस कांफ्रेंस करेंगे स्पेशल एसपी
किसानों की ट्रैक्टर परेड को लेकर दिल्ली पुलिस के स्पेशल एसपी (इंटेलिजेंस) जय सिंह रोड स्थित पुलिस मुख्यालय के मीडिया कॉन्फ्रेंस हॉल में शाम 4:30 बजे पत्रकारों को संबोधित करेंगे।

टिकैत की अपील: किसान साथी दल बल के साथ घर से निकलें
किसान नेता राकेश टिकैत ने ट्वीट किया कि 26 जनवरी की किसान गणतंत्र दिवस परेड ऐतिहासिक होगी। उन्होंने सभी किसानों से अपील की है कि आप दल बल के साथ घर से निकलें और जो भी बाधा रास्ते में पड़े उसे पार करते हुए आगे बढ़ें। अगर किसी ने इसमें व्यवधान पैदा करने की कोशिश की तो उसका जिम्मेदार संबंधित जिला अधिकारी, एसएसपी और राज्य सरकारें होंगी।

दोपहर दो बजे तक तैयार होगा रूट मैप
दिल्ली और यूपी पुलिस के साथ किसानों के ट्रैक्टर परेड को लेकर दोपहर दो बजे तक रूट मैप तैयार हो जाएगा। भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के मुताबिक ट्रैक्टर परेड यूपी गेट से चलकर दिल्ली में घुसने के बाद आनंद विहार होते हुए अप्सरा बॉर्डर पर पहुंचेगी। उसके बाद मोहन नगर और अन्य जगहों से होते हुए वापस यूपी गेट आएगी। फिलहाल इस मैप पर पुलिस अधिकारी अंतिम मुहर लगाएंगे जिसमें रूट बदलाव की भी संभावना जताई जा रही है।

सरकार को 26 जनवरी को इन क़ानूनों को रद्द करने का एलान करना चाहिए: कांग्रेस
कांग्रेस नेता जसबीर सिंह गिल ने कहा कि सरकार की अगली बैठक की तारीख़ तय करने की जो ज़िम्मेदारी है, सरकार उससे भाग नहीं सकती है। इस सरकार की एक परेशानी है कि जब भी इनकी नाकामी सामने आती है तो ये अपना दोष किसी और पर डाल देते हैं। सरकार को 26 जनवरी को इन क़ानूनों को रद्द करने का एलान करना चाहिए।

कोई फर्क नहीं पड़ता कि दिल्ली पुलिस अनुमति देती है या नहीं: किसान
सिंघु बॉर्डर पर पंजाब किसान संघर्ष समिति के सतनाम सिंह पानू ने कहा कि कई किसान गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर रैली के लिए दिल्ली आ रहे हैं। हम दिल्ली के बाहरी रिंग रोड पर रैली करेंगे, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि दिल्ली पुलिस अनुमति देती है या नहीं

हम 26 जनवरी को शांतिपूर्ण ट्रैक्टर परेड निकालेंगे: किसान
कृषि क़ानूनों के खिलाफ टिकरी बाॅर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 60वें दिन भी जारी है। एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि आज पंजाब, हरियाणा और राजस्थान से काफी ट्रैक्टर आ रहे हैं। हम 26 जनवरी को शांतिपूर्ण ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। टिकरी बाॅर्डर पर करीब दो-ढाई लाख ट्रैक्टर होंगे।

दिल्ली के सभी संपर्क मार्ग सील, सीमा पर कई राज्यों से पहुंचे किसान
26 जनवरी को दिल्ली में होने वाली ट्रैक्टर परेड में शामिल होने के लिए किसानों के जाने का सिलसिला शनिवार को भी जारी रहा। पंजाब, हरियाणा, यूपी आदि राज्यों से करीब पांच हजार ट्रैक्टर लेकर किसान दिल्ली की सीमा पर एक दिन में पहुंच गए हैं। वहीं दिल्ली के सभी संपर्क मार्ग पुलिस ने सील कर दिए हैं। इधर, पंजाब में आप ने किसानों के ट्रैक्टर मार्च के समर्थन में मोटरसाइकिल रैली निकाली। बठिंडा में बैठक करने पहुंचे भाजपा नेताओं को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा। इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई।

जब तक कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक नहीं लौटेंगे: किसान
किसान नेता गुरविंदर सिंह, गुरदेव सिंह व कश्मीर सिंह ने बताया कि किसान अपने साथ खाद्य सामग्री और अन्य जरूरी सामान लेकर जा रहे हैं। अमृतसर में नेता सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद हजारों किसान ट्रैक्टर-ट्रॉलियों के साथ सिंघु बॉर्डर के लिए रवाना हुए। ट्रैक्टरों पर केसरी व नीले रंग के झंडे लगा कर केंद्र सरकार के विरुद्ध नारेबाजी कर रहे किसानों ने दो टूक कहा कि जब तक कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक वह नहीं लौटेंगे।

 

 

About Bharat Good News

error: Content is protected !!