Saturday , December 7 2019

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / अपराध / आर्ट आफ लिविंग ने आजमगढ़ की इटौरा जेल में योग क्रिया के माध्यम से कैदियों को भी सिखाये तनाव मुक्त रहने के तरीके 

आर्ट आफ लिविंग ने आजमगढ़ की इटौरा जेल में योग क्रिया के माध्यम से कैदियों को भी सिखाये तनाव मुक्त रहने के तरीके 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सिविल लाइन सेंटर पर होगा योग,ध्यान, प्राणायाम 
रिपोर्ट-धर्मेंद्र श्रीवास्तव 
आजमगढ़ 21जून । आर्ट आफ लिविंग आजमगढ़ इकाई द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर शुक्रवार को आर्ट आफ लिविंग सिविल लाइन सेंटर पंचदेव मंदिर चौराहे के पास  हाल  में  सुबह ६ बजे से योग क्रिया  आयोजन किया जाएगा | इसके अलावा आर्ट ऑफ लिविंग आजमगढ़ की इकाई बुधवार से इटौरा स्थित जेल में भी कैदियों को भी तनाव से मुक्त रहने की क्रिया को सिखाया जा रहा है इसका भी समापन अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर होगा  |पिछले दो दिनों में  इस अवसर पर जेल के सभी कैदियों ने पूरे मनोयोग व उत्साह के साथ भाग लेकर अपने अंदर ऊर्जा का प्रवाह महसूस किया | इस अवसर पर सभी से नियमित योग क्रिया करने पर जोर दिया गया |  योग प्रशिक्षक कृष्ण कुमार मौर्य ने  प्राणायाम आसन पांच खड़े होकर पांच बैठकर, तीन पेट के बल पर लेटकर, चार पीठ के बल लेटकर चार प्राणायाम कराया गया। इसके अलावा  जिसमें भास्तिक प्राणायाम पवनमुक्त आसन, शवासन, कपाॅलभांति प्राणायाम, अनुलोम-विलोम प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम, कराकर उसके फायदे के बारे में बिस्तार से बताया ।
इस अवसर पर आर्ट आफ लिविंग कोर्स  की प्रशिक्षिक के के मौर्य ने कहा की ध्यान प्राणायाम में वह शक्ति है जो 30 मिनट की क्रिया ,तीन घंटे की नींद के बराबर राहत देती है ।उन्होंने तनाव मुक्त रहने के लिए योग क्रिया से जुड़ने पर जोर दिया | इस कार्यक्रम में प्रशिक्षक के के मौर्य के अलावा रविंद्र बरनवाल ,जेल अधीक्षक,जेलर डिप्टी जेलर सहित कई लोग मौजूद थे | 

About Bharat Good News

Leave a Reply

error: Content is protected !!