Wednesday , September 30 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / आजमगढ़-महिला एवं विकास के विविध आयाम विषयक पर संगोष्ठी

आजमगढ़-महिला एवं विकास के विविध आयाम विषयक पर संगोष्ठी

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-ज्ञानेंद्र चतुर्वेदी-सिटी रिपोर्टर 
आजमगढ़। नगर के श्री अग्रसेन महिला महाविद्यालय में महिला एवं विकास के विविध आयाम विषयक पर एक संगोष्ठी का आयोजन विभागाध्यक्ष डा शैलजा त्रिपाठी के संयोजकत्व में किया गया। जिसमे बतौर मुख्य अतिथि के रूप में नारीशक्ति संस्थान की सचिव डा पूनम तिवारी व विशिष्ठ अतिथि के रूप में महामंत्री अनीता द्विवेदी मौजूद रही। वहीं अध्यक्षता विद्यालय की प्राचार्या ने किया। कार्यक्रम की शुरूआत मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित करके किया गया। संगोष्ठी का मुख्य उद्देश्य महिलाओं से सम्बन्धित कार्यक्रमों, योजनाओं, कानूनों आदि की छात्राओं को जानकारी दिया।
महिला एवं विकास के विविध आयाम के विषय को परिवर्तित करते हुए महाविद्यालय की संस्कृत विभागाध्यक्ष डा वन्दना द्विवेदी ने सरकार की योजनाओं, विकास कार्यक्रमों, महिलाओं से सम्बन्धित,कानूनों आदि पर विस्तार से प्रकाश डाला। जैसे बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, उज्जवला योजना, सुकन्या, समृद्धि और कस्तूरबा, गांधी बालिका विद्यालय, कौशल विकास कार्यक्रम, महिला एवं बाल विकास योजना आदि के विषय में छात्राओं को जानकारी दिया। डा वन्दना द्विवेदी ने आगे कहा कि समाज के विकास का सीधा सम्बन्ध महिलाओं के विकास से जुड़ा होता है, महिलाओं के विकास के बगैर व्यक्ति, परिवार और समाज के विकास की कल्पना भी नहीं की जा सकती है।
संगोष्ठी की मुख्य संयोजिका डा शैलजा त्रिपाठी ने कहा कि नारी ईश्वर की अपूर्व रचना है इसलिए समाज में नारी को बराबर का अधिकार प्राप्त होना चाहिए और हम लोगों को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा संचालित बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ को पूर्ण मनोयोग स आगे बढाना चाहिए।
मुख्य अतिथि डा पूनम तिवारी ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के बगैर समाज सशक्त नहीं होगा और हम सभी को महिलाओं को जागरूक करना है। जिससे उन्हीं सरकारी योजनाओं की जानकारी मिल सके।
विशिष्ठ अतिथि शिनेका की विभागाध्यक्ष डा शाहीन जाफरी ने कहा कि आज महिलाएं सरकार के प्रास से नई ऊचाईयों को छू रही है।
विशिष्ठ अतिथि अनीता द्विवेदी ने कहा कि समाज में महिलाओं को उनके वास्तविक अधिकार को प्राप्त करने के लिए उन्हें सक्षम बनाना ही महिला सशक्तिकरण है। संगोष्ठी में महाविद्यालय की स्नातक व स्नातकोत्तर की अधिकांश छात्राओं द्वारा प्रतिभाग किया गया। जिसमे प्रथम स्थान सौम्या सिंह बीए तृतीय वर्ष, द्वितीय स्थान जान्हवी सिंह बीकाम प्रथम वर्ष, तृतीय स्थान अंजना यादव को प्राप्त हुआ। वहीं सान्त्वना पुरस्कार नम्रता विश्वकर्मा, जान्हवी सिंह, काजोलपांडेय को मिला। अंत में संचालिका सौम्या सिंह व डा निशा यादव ने सभी के प्रति आभार जताया।
इस अवसर पर महाविद्यालय की एसोसिएशन प्रोफेसर डा निशा यादव, डा अर्चना उपाध्याय, डा वन्दना द्विवेदी, डा शैलजा त्रिपाठी, डा उषा कुमारी, डा मधुरिमा अस्थाना, डा अखिलेश यादव, डा अनुभा श्रीवास्तव, डा रागिनी गौतम, डा माहेजबी, डा अवधेश मौर्य, डा शैलेष आदि मौजूद रहे।

 

About Bharat Good News

error: Content is protected !!