Tuesday , September 29 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / अपराध / आजमगढ़ पुलिस को मिली सफलता, 80 लाख के गहने बरामद, आरोपी गिरफ्तार
चोरी की घटना का खुलासा करते एसपी अजय साहनी

आजमगढ़ पुलिस को मिली सफलता, 80 लाख के गहने बरामद, आरोपी गिरफ्तार

4 दिन पहले नियुक्त नौकर ने दिया था घटना को अंजाम

आजमगढ़  डेस्क – रिपोर्ट – ज्ञानेंद्र चतुर्वेदी

आजमगढ़ ।उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ पुलिस टीम को एक बड़ी सफलता मिली ।जिले के सिधारी थाना क्षेत्र के बेलइसा गांव के एक बड़े व्यापारी के आवास चोरी गये 80 लाख रुपये कीमत के सोने चांदी के आभूषण पुलिस ने बरामद कर चोरी के आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है ।आपको बता दें कि बीते 14 अक्टूबर को व्यापारी के घर से 44 हज़ार की नकदी सहित लाखों कीमत के आभूषण चोरी हो गये थे। इस मामले में पुलिस ने व्यापारी  के घर 4 दिन पूर्व नियुक्त किए गए घरेलू नौकर को गिरफ्तार करते हुए उसके पास से चोरी के जेवरात बरामद कर लिये।पुलिस ने बरामद जेवरात की कीमत 80 लाख रुपये बताई । पुलिस उपमहानिरीक्षक विजय भूषण ने बरामद करने वाली पुलिस टीम को  20हज़ार रुपये पुरस्कार देने  की घोषणा की है।
पुलिस के अनुसार सिधारी थाना क्षेत्र के बेलइसा गांव निवासी अनुराग रूंगटा पुत्र परमानंद रूंगटा ने अपने पुराने घरेलू नौकर के कहने पर 4 दिन पूर्व बिहार प्रांत के मधुबनी जनपद निवासी राजू महतो को घर पर काम करने के लिए रखा था। बीते 14 अक्टूबर को वाराणसी में पढ़ाई कर रहे अपने बच्चों को लेने के लिए व्यवसायी अनुराग अपनी पत्नी के साथ वाराणसी चले गये। सुनसान घर का लाभ उठाते हुए नवनियुक्त नौकर राजू महतो ने घर के कमरे का ताला तोड़कर आलमारी को पेचकस की मदद से खोला और उसमें रखे 44 हजार रुपए तथा 80 लाख कीमत के हीरा जड़ित और स्वर्ण निर्मित जेवरात समेट कर फरार हो गया। घटना की जानकारी पीड़ित व्यवसाई परिवार को घर लौटने पर हुई। इस संबंध में पीड़ित ने सिधारी थाने में घटना के बाद से फरार घरेलू नौकर के खिलाफ तहरीर दी। पहले तो पुलिस इस मामले को टरकाती रही लेकिन घटना के संबंध में पुलिस उपमहानिरीक्षक के हस्तक्षेप के बाद सिधारी थाने में आरोपी नौकर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई। फरार नौकर की तलाश में गठित की गई पुलिस टीम बीते दिनों बिहार पहुंची और मधुबनी जिले के फुलपरास थाना अंतर्गत बरही काला पट्टी गांव स्थित नौकर के घर पर छापेमारी की। इस दौरान आरोपी घर पर नहीं मिला, परिजनों से की गई पूछताछ के बाद पुलिस टीम ने आरोपी के रिश्तेदारों व उसके हर मिलने के संभावित स्थानों पर दबिश दी। इस कार्य में बिहार पुलिस की भी मदद ली गई। नतीजा रहा कि रविवार को आरोपी की जानकारी मिलने पर पुलिस उसके गांव पहुंची और आरोपी राजू महतो को दबोच लिया गया। उसकी निशानदेही पर चोरी के जेवरात बरामद कर लिए गए। घटना के संबंध में मंगलवार को एसपी आवास पर  अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने बताया कि बरामद जेवरात की पहचान पीड़ित व्यवसाई द्वारा कर ली गई है हालांकि इस मामले में नकदी बरामद नहीं की जा सकी है। पुलिस अधीक्षक के अनुसार पकड़ा गया राजू महतो इसके पूर्व केरल, बंगलोर तथा पश्चिम बंगाल आदि प्रांतों में भी रह चुका है। आरोपी को रिमांड पर लेकर पुलिस पूछताछ कर उसके द्वारा की गई अन्य घटनाओं के बारे में भी तस्दीक कर रही है। जोन के पुलिस उपमहानिरीक्षक ने इस घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम की पीठ थपथपाते हुए पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!