Friday , September 25 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / आजमगढ़-उजाला ने की माया की जिंदगी रोशन

आजमगढ़-उजाला ने की माया की जिंदगी रोशन

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-बृज भूषण रजक-तहसील-मेहनगर 

 

आजमगढ़। तरवां थाना क्षेत्र के महगूगंज बाजार के  लोनी नदी पुल के पास बसवार  में केसरिया रंग गमछे से लिपटी हुई नवजात शिशु लड़की आज सोमवार सुबह 6:00 बजे के करीब दिखाई दिया।  शौच के लिए जा रहे थे सोनू सिंह भीड़ देखकर उस बच्ची के पास पहुंचे और उसे उठाकर अपने घर ले आए तभी 100 नंबर की पुलिस भी वहां पर पहुंच गई। वही मेहनगर थाना क्षेत्र के बछवल निवासी माया देवी पति शशिकांत मौर्य जिसके पास एक भी पुत्र नहीं है। जो 2002 से ही महगूगंज बाजार में बीज भंडार की दुकान करके अपने परिवार के साथ जीवन यापन कर रहे हैं। पुलिस के देखरेख में माया देवी को  बच्चे की परवरिश के लिए दिया गया। नवजात शिशु के आते ही घर में खुशियों की लहर दौड़ पड़ी, माया देवी ने बताया कि मेरे पास एक भी बच्चे नहीं हैं। 14 वर्षों के इंतजार के बाद यह बच्ची भगवान के आशीर्वाद से मुझको मिली है। मैं इसकी परवरिश में कहीं से कोर कसर नहीं छोडूंगी मैं इस को अच्छी तालीम देकर इसकी शादी धूमधाम से करूंगी। वही माया के पति शशिकांत ने बताया कि इसका नाम उजाला रखा गया है। यह लड़की लक्ष्मी के रुप में हमारे घर में आई हैं। वही शशिकांत के माता  देवंता देवी पिता दयानंद मौर्य भाई रवि कांत बहन कुमारी रीना अपने आस-पड़ोस और लोगों को मिठाइयां वितरण करके खुशियां मना रहे थे।
शशिकांत ने बताया कि जब से हमारे घर में यह लड़की कदम रखी है तब से मेरा रुका हुआ मकान का निर्माण शुरू हो गया है। विवाह का एक नया रिश्ता भी तो हो गया।
वही रणजीत चौहान ने बताया कि यह बच्ची लगभग एक हफ्ता की जन्म हुई है ।इसके हाथ में नीडिल लगी थी। यह किसी  ने अस्पताल से लाकर  इसको छोड़ कर चला गया। किसी ने अपना पाप छुपाने के लिए ऐसा कार्य किया है। इस तरह की घिनौना कार्य करने वाले को काफी  आक्रोश व्यक्त किया।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!