Friday , May 14 2021

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / आजमगढ़ डीएम सहित 1262 अफसरों व कर्मियों ने लगवाया टीका

आजमगढ़ डीएम सहित 1262 अफसरों व कर्मियों ने लगवाया टीका

आजमगढ़: वैश्विक महामारी कोरोना को हराने के लिए कोविड-19 वैक्सीनेशन के साथ जंग जारी है। शुक्रवार को जिले के 25 अस्पतालों के 41 बूथों पर टीकाकरण अभियान चला। 2669 लक्ष्य के सापेक्ष 1262 राजस्व व स्वास्थ्यकर्मियों ने टीकाकरण कराया, 62.27 फीसद रहा।

मंडलीय जिला चिकित्सालय के कोविड कक्ष में डीएम राजेश कुमार, सीआरओ हरी शंकर, एडीएम प्रशासन नरेंद्र सिंह, एडीएम एफआरन गुरु प्रसाद गुप्ता, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट आइएएस (एसडीएम सदर) गौरव कुमार सहित राजस्व विभाग के कर्मचारियों ने कोविडशील्ड टीका लगवाया। जबकि सीएचसी पल्हनी में डीडीसी मधुसूदन दुबे, एसओसी सुरेश जायसवाल, सीओ चकबंदी अशोक कुमार त्रिपाठी व गिरीश चौबे सहित 100 कर्मचारियों ने टीकाकरण कराया। डीएम ने बताया कि कोविडशील्ड का टीका सुरक्षित और असरदार है। आज हम सब लोग टीका लगवाएं हैं। इसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है। यह टीका पूर्ण रूप से सुरक्षित है। यह वैक्सीन भारत में बनी है। टीकाकरण स्थलों पर जब भी समय आएं तो टीकाकरण आकर अवश्य करा लें। अब तक जिले में स्वास्थ्य विभाग के डाक्टरों एवं कर्मचारियों को 11000 टीके लग चुके हैं। कोविड का टीकाकरण दो बार कराया जाएगा। पहला टीका लगने के 28 दिन बाद दूसरा टीका लगाया जाएगा। जिले के परीक्षा केंद्रों के भौतिक सत्यापन की रिपोर्ट तलब

यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए परीक्षा केंद्रों के निर्धारण के संबंध में शुक्रवार को जिलाधिकारी राकेश कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक हुई। उन्होंने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि अब तक जितने भी दावे-आपत्तियां आईं हैं, उनका विद्यालयवार भौतिक सत्यापन कर छह फरवरी की शाम तक अवश्य उपलब्ध करा दें। इस कार्य में लापरवाही नहीं होनी चाहिए।क्योंकि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट पर संबंधित सूचनाएं नौ फरवरी तक अपलोड की जानी हैं।

जिला विद्यालय निरीक्षक डा. वीके शर्मा ने बताया कि परिषद ने जिले में कुल 286 परीक्षा केंद्रों की सूची जारी की है। 30 जनवरी तक विद्यालय प्रबंधकों व प्रधानाचार्यों से दावे-आपत्तियां मांगी गई थी जिसमें कुल 405 प्रत्यावेदन आए हैं। जिनके भौतिक सत्यापन के लिए संबंधित एसडीएम को प्रेषित कर दिया गया है। बताया कि माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा जारी परीक्षा केंद्रों की सूची में छह राजकीय, 81 अशासकीय सहायता प्राप्त एवं 199 स्ववित्तपोषित मान्यता प्राप्त विद्यालय शामिल हैं। आनलाइन प्रक्रिया के तहत परीक्षा केंद्रों के निर्धारण के संबंध में मांगे गए प्रत्यावेदन में कई प्रबंधकों व प्रधानाचार्यों ने दूरी अधिक, आवासीय विद्यालय के केंद्र बनाए जाने आदि की शिकायत की है।

About Bharat Good News

error: Content is protected !!