Sunday , May 31 2020

प्रमुख समाचार


विज्ञापन

Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / अमेरिकी कंपनी का आईआईटी दिल्ली से समझौता, पीएचडी स्कॉलर्स के लिए बनाया रिसर्च सेंटर

अमेरिकी कंपनी का आईआईटी दिल्ली से समझौता, पीएचडी स्कॉलर्स के लिए बनाया रिसर्च सेंटर

No

नई दिल्ली, (हि.स.)। शिक्षा जगत और कारोबार के बीच व्यवसायिक तालमेल आईआईटी दिल्ली में देखने को मिला। आईआईटी दिल्ली ने इंजीनियरिंग में एक खास विषय पर पीएचडी करने वाले रिसर्च स्कॉलर्स को अंतरराष्ट्रीय स्तर की महंगी तकनीकी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए अमेरिकन कंपनी एएनएसवाईएस के साथ एमओयू किया है। इसके तहत अमेरिकी कंपनी आईआईटी दिल्ली में इस सेंटर को स्थापित करने और संचालित करने का खर्चा उठाएगी।
आईआईटी दिल्ली के प्रवक्ता ने बताया कि पेन्सिलवेनिया की कंपनी एएनएसवाईएस सॉफ्टवेयर कंपनी ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान(आईआईटी) दिल्ली में कम्प्यूटेशनल फ्लुइड डायनामिक्स(सीएफडी) को बढ़ावा देने के लिए एक उत्कृष्टता केंद्र स्थापित किया है। कंपनी अपने कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी(सीएसआर) फंड से केंद्र का खर्च वहन करेगी।
इसका उद्देश्य शिक्षा और अनुसंधान को बढ़ावा देने और महिला पीएचडी उम्मीदवारों पर विशेष ध्यान देने के साथ इंजीनियरिंग छात्रों की रोजगार क्षमता में सुधार करना। कम्प्यूटेशनल फ्लूइड डायनेमिक्स(सीएफडी) के क्षेत्र में इंजीनियरिंग छात्रों के परास्नातक(पीएचडी) कौशल को बेहतर बनाना। इंजीनियरिंग छात्रों(मास्टर्स/पीएचडी) को उद्योग के प्रासंगिक ज्ञान से लैस करने के लिए उद्योग संपर्क को बढ़ावा देना।
आईआईटी दिल्ली के निदेशक प्रो. वी. रामगोपाल राव और एएनएसवाईएस के भारत और दक्षिण एशिया के क्षेत्र उपाध्यक्ष रफीक सोमानी ने गुरुवार को यहां संयुक्त रूप से केंद्र का उद्घाटन किया। दोनों के बीच इसको लेकर एक समझौते पर भी हस्ताक्षर किए गए। फाउंडेशन फॉर इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी ट्रांसफर(एफआईटीटी), आईआईटी दिल्ली के तत्वावधान में तीन साल की परियोजना को अंजाम दिया जाएगा। यह शैक्षणिक वर्ष 2021-22 के अंत तक जारी रहेगा।
आईआईटी दिल्ली के निदेशक प्रो. वी. रामगोपाल राव ने कहा कि यह केंद्र महिला छात्रों को विशेष रूप से सीएफडी के क्षेत्र में शिक्षा प्रदान करने में मदद करेगा। इंजीनियरिंग छात्रों के कौशल में सुधार और उन्हें उद्योग के पेशेवरों के साथ बातचीत करने के लिए एक मंच प्रदान करना।
एएनएसवाईएस के भारत और दक्षिण एशिया के क्षेत्र उपाध्यक्ष रफीक सोमानी ने कहा कि आईआईटी दिल्ली के साथ इस एमओयू के तहत एएनएसवाईएस पीएचडी उम्मीदवारों पर विशेष ध्यान देने के साथ सेंटर ऑफ एक्सीलेंस ऑफ प्रमोशन ऑफ कम्प्यूटेशनल फ्लूड डायनामिक्स(सीएफडी) का समर्थन करेगा। यह सहयोग उनकी रोजगार क्षमता में सुधार करेगा और उन्हें सीएफडी में उद्योग का प्रासंगिक ज्ञान और कौशल से लैस करेगा। 

About Bharat Good News

error: Content is protected !!