Monday , September 16 2019

प्रमुख समाचार


Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / अध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर जी का अवतरण दिवस धूम-धाम से मनाया गया

अध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर जी का अवतरण दिवस धूम-धाम से मनाया गया

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-धर्मेन्द्र श्रीवास्तव 

आज़मगढ़  ।  आर्ट आफ लिविंग इकाई के आजमगढ़ के  तत्वावधान में आर्ट आफ लिविंग के प्रणेता अध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर जी का अवतरण दिवस रविवार को देर रात्रि तक बढे धूम धाम से मनाया गया  | इस अवसर पर मारवाड़ी धर्मशाला में साधना के दौरान सुदर्शन क्रिया एवं ध्यान का अभ्यास कर लोगो ने गुरु के दीर्घायु होने की कामना की | अग्रवाल धर्मशाला में गुरु पूजा की गयी और भजन व् सत्संग का भी आयोजन हुआ | इलाहाबाद से पधारे प्रशिद्ध भजन गायक राकेश ने  भजन सुनाकर लोगो को मंत्र मुग्ध कर दिया |इस कार्यक्रम के सयोजक रविन्द्र बरनवाल ने सभी का आभार जताया कहा की श्री श्री रविशंकर जी बताये गए रास्ते पर चलकर ही जीवन को तनावमुक्त किया जा सकता है |सभी लोगो को उनके अवतरण दिवस पर ये ही संकल्प लेना होगा |
अध्यात्मिक गुरु के अवतरण दिवस पर “सद्गुरु तुम्हारे प्यार ने जीना सीखा दिया ,हमको तुम्हारे प्यार ने इन्शा बना दिया “…भजन ने लोगो को तालिया बजाने पर मजबूर कर दिया वही एक भजन “चाहे जितने तीरथ कर लो घूम लो सब संसार  ,सद्गुरु शरण में जो नहीं आया जीना है बेकार ” ने सभी को जीवन में गुरु कृपा के महत्व को बताया और सद्गुरु शरण में रहने की सलाह दी | अवतरण दिवस पर बेंगलोर से आन लाइन लाइव विडिओ से सन्देश देते हुए श्री श्री रविशंकर ने कहा की एक व्यक्ति पैदा होते ही कितने रिश्तों से जुड़ जाता है आज जरुरत है सभी को विश्व बन्धुत्व का भाव फैलाने की लोग विना भेदभाव के एक दुसरे की सेवा में लगे रहे |   तनावमुक्त जीवन के लिए योग ध्यान,प्राणायाम,सुदर्शन क्रिया अति आवश्यक है ।एक खुशी को पाने के लिए व्यक्ति जन्म लेता है और अंतिम गति को प्राप्त हो जाता है लेकिन सांस क्रिया की सही जानकारी के अभाव में पूरा जीवन निष्क्रिय होकर रह जाता है  ।श्री श्री ने जीवन जीने की कला को जिस तरह बताया है उसका सही तरीके से अनुपालन किया जाय  तो व्यक्ति जीवन को तनावमुक्त बना सकता है | उन्होंने बेसिक एवं ”हैपीनेस कोर्स “में ज्यादा से ज्यादा भाग लेने पर जोर दिया ।उन्होंने कहा की सुदर्शन क्रिया में पूरी सांसो को लयबद्ध तरीके से करने से पूरे शरीर में ऊर्जा का संचार होता है ।उन्होंने कहा की पूरे शरीर को ऊर्जा संजमित भोजन से , 6 से 8 घंटे की नींद से ,योग प्राणायाम और ध्यान से मिलता है ।जीवन में अमीर हो गरीव समय सबके लिए 24 घंटे ही निर्धारित है ।समय बचाने के लिए नींद की कमी को पूरा करने के लिए ध्यान आवश्यक है ।आधे घंटे का ध्यान तीन घंटे की नींद को पूरा कर देता है ।शरीर को भरपूर मात्रा में ऊर्जा मिलती है ।उन्होंने जीवन को मस्त रहने की प्रेरणा दी कहा युवाओ को इसमे भागीदारी निभानी होगी ।
इस अवतरण दिवस के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए  आर्ट आफ लिविंग के रमाशंकर वर्मा,रविंद्र बर्नवाल,सुनीत जी ,अमित मिश्रा ,प्रियंका मिश्रा ,डाक्टर वी कुमार ,कमल गुप्ता ,प्रीती रुंगटा,अंजना श्रीवास्तव,के के मौर्या ,भाजपा नगर अध्यक्ष विनय गुप्ता ,ओमप्रकाश अग्रवाल “लड्डू”सपना,धर्मेंद्र श्रीवास्तव,इ0सौरभ वर्मा ,आशीष अग्रवाल,अनिरुद्ध बर्नवाल,सहित अन्य  लोगो ने सहयोग किया | ।

About Bharat Good News

Leave a Reply

error: Content is protected !!