Friday , April 19 2019

प्रमुख समाचार


Home / पूर्वांचल समाचार / आज़मगढ़ / होलिकोत्सव समरसता पर्व है-प्रभुनाथ सिंह मंयक

होलिकोत्सव समरसता पर्व है-प्रभुनाथ सिंह मंयक

आजमगढ़-डेस्क-रिपोर्ट-सोनू सिंह-रिपोर्टर 

आजमगढ़। संस्कृति सेवा विकास मंच के तत्वावधान में काली चौरा में बसंतोत्सव संगोष्ठी सम्पन्न हुई।  उक्त कार्यक्रम में प्रो प्रभुनाथ सिंह मंयक ने कहा कि होलिकोत्सव समरसता पर्व है। इस उत्सव में होलिका धूमि धारण करना, श्वपचस्पर्श, रतिकाम महोत्सव, आम का बौर, गुझिया तथा पकवानों का रसास्वादन फाग खेलना, गाना-बजाना, प्रेम पूर्वक परस्पर मिलना-जुलना इत्यादि कार्यक्रम मानसिक विकारों को दूर करके समरसता और आनंद के रस में डूबा देते है।
पंडित सुभाष चन्द्र तिवारी कुन्दन ने संचालन करते हुए कहा कि होली के रंगोत्सव में देश भर में शिवारात निकलती है और ईष्या, द्वेष का त्याग करके एक दूसरे से मिलकर एकात्मता और समन्वय के संबंधों को मजबूत करते है। यह पर्व वैदिक काल से लेकर अब तक समाज को अनेक स्तरीय कड़ियों को जोड़ता आ रहा है।
संगोष्ठी में डा अखिलेश उपाध्याय, गिरीश सेठ, श्यामबहादुर सिंह, संजय कुमार पांडय, रामप्रकाश तिवारी आदि मौजूद रहे।

About Bharat Good News

Leave a Reply

error: Content is protected !!