Friday , April 19 2019

प्रमुख समाचार


Home / अपराध / दहेज़ हत्या में पति को 10 वर्ष की सश्रम व सास,ननद को 6-6 वर्ष की कारावास,

दहेज़ हत्या में पति को 10 वर्ष की सश्रम व सास,ननद को 6-6 वर्ष की कारावास,

ब्यूरो रिपोर्ट गुड न्यूज़ भारत 
आजमगढ़ ।उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के गंभीरपुर थाना क्षेत्र में दहेज़ ह्त्या के एक मांमले में आजमगढ़ की दीवानी न्यायालय के अपर सत्र न्यायाधीश कोर्ट नंबर दो असद अहमद हाशमी की अदालत ने दोषी पाए गए आरोपित पति को 10 वर्ष सश्रम कारावास की सजा व  आरोपित सास व ननद को अदालत ने छह-छह वर्ष की सजा सुनाई। उक्त तीनों पर 15-15 हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया। ये घटना लगभग  लगभग नौ वर्ष पूर्व गम्भीरपुर थाने में दर्ज हुआ था | जिसमे मुकदमे की सुनवाई करते हुए ये  फैसला अपर सत्र न्यायाधीश असद अहमद हाशमी ने सुनाया।
 
अपर सत्र न्यायाधीश कोर्ट नंबर दो द्वारा किये गए फैसले के अनुसार  वादी मुकदमा मेवालाल निवासी आदर्श पल्ली थाना जगदल जनपद चौबीस परगना (पश्चिम बंगाल) की पुत्री सरिता की शादी 17 फरवरी 2006 को जिले के गंभीरपुर थाना क्षेत्र के बिद्रा बाजार रानीपुर निवासी उत्तम जायसवाल पुत्र गोपाल प्रसाद जायसवाल के साथ हुई थी। पिता का आरोप था कि शादी के समय ही उसकी पुत्री के पति उत्तम व ससुराल के अन्य लोग दहेज में बाइक, दो भर सोने की चेन की मांग कर रहे थे। किसी तरह से रिश्तेदारों के समझाने पर विदाई की रस्में पूरी की गई। ससुराल में दहेज के लिए उसकी पुत्री सरिता का शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा था। दो अगस्त 2010 को उन्हें सूचना मिली कि ससुराल में उसकी पुत्री की जलाकर हत्या कर दी गई है। पुत्री के मौत के मामले में वादी मुकदमा ने गंभीरपुर थाने में पति उत्तम जायसवाल, सास कांति देवी व ननद रानी उर्फ रजनी जायसवाल के विरुद्ध नामजद मुकदमा दर्ज कराया था। अभियोजन पक्ष की तरफ से मेवालाल, प्रेमचंद, सरस्वती, सुभाषचंद्र, दयाशंकर, प्रमोद शुक्ला, डाक्टर एवी त्रिपाठी, विवेचक सीओ हरेंद्र यादव, सीओ जोगेंद्र यादव, राणा प्रताप सिंह, हेड कांस्टेबल कुंवर बहादुर व सब इंस्पेक्टर तेज बहादुर ने गवाही दी। दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद अदालत ने आरोपी पति उत्तम को 10 वर्ष कारावास और 15 हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई। साथ ही आरोपित सास कांति देवी व ननद रानी उर्फ रजनी को छह-छह वर्ष कारावास और दोनों को पंद्रह-पंद्रह हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई।

About Bharat Good News

Leave a Reply

error: Content is protected !!